Ads

आखिर बिक गये Big Bazaar भारत के रिटेल सेक्टर में जंग तेज

रायपुर : देश के सबसे धनी कारोबारी मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर लिमिटेड (RRVL) ने फ्यूचर समूह के रिटेल और थोक कारोबार तथा लॉजिस्टिक्स और भंडारण कारोबार को खरीदने की घोषणा की। रिलायंस की तरफ से जारी विज्ञप्ति के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर लिमिटेड ने शनिवार को फ्यूचर समूह के खुदरा और थोक कारोबार तथा लॉजिस्टिक्स और भंडारण कारोबार के एकमुश्त 24,713 करोड़ रुपये के दाम में अधिग्रहण की घोषणा की,हालांकि फ्यूचर समूह के वित्तीय एवं बीमा कारोबार इस सौदे का हिस्सा नहीं हैं। डील के हिस्से के रूप में फ्यूचर ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों जैसे कि बिग बाजार, फूडहॉल, नीलगिरी, एफबीबी, सेंट्रल, हेरिटेज फूड्स और ब्रांड फैक्ट्री से फैशन और ग्रॉसरी रिटेल फॉर्मेट, परिधान ब्रांड ली कूपर और ऑल-बैरिंग आरआईएल का हिस्सा हो जाएंगी।

रिलायंस की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर लिमिटेड ने कहा है कि इस अधिग्रहण योजना के तहत फ्यूचर समूह अपनी कुछ कंपनियों का विलय फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड (FEL) में करेगा। कंपनी ने बताया कि इस योजना के तहत फ्यूचर समूह के खुदार और थोक कारोबार को रिलायंस रिटेल वेंचर लिमिटेड की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल एंड फैशन लाइफ स्टाइल लिमिटेड को ट्रांसफर कर दिया जाएगा। अपैरल, जनरल मर्चेंडाइज और खुद के एफएमसीजी ब्रांड वाला फ्यूचर ग्रुप का पोर्टफोलियो ग्राहकों को व्यापक पेशकश में सहायक होगा। इस अधिग्रहण को अभी जरूरी मंजूरियां मिलना बाकी है।

रिलायंस और फ्यूचर रिटेल के इस सौदे से भारत के रिटेल सेक्टर में जंग तेज होगी. यहां अमेजन ने पहले ही 5.5 अरब अमरीकी डालर के निवेश का वादा किया है, जबकि वॉलमार्ट ने 2018 में 16 अरब अमरीकी डालर में ई-कॉमर्स दिग्गज फ्लिपकार्ट को खरीदा हैं। इस सौदे से मुकेश अंबानी रिटेल सेक्टर में एकतरफा किंग बनकर उभरेंगे। क्योंकि उनकी रिटेल कंपनी पहले से ही इस सेक्टर में है। रिलायंस रिटेल स्टोर्स का दायरा 18,000 तक बढ़ सकता है। यह कंपनी के रेवेन्यू में 26,000 करोड़ रुपए जोड़ने में मदद करेगा। इससे रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास भारतीय रिटेल बाजार की एक-तिहाई हिस्सेदारी आ जाएगी।

किशोर बियानी के फ्यूचर रिटेल ग्रुप 1980 के दशक के आखिरी वर्षों से ही रिटेल बिजनेस में सक्रिय है। उस दौरान ही ग्रुप ने संगठित रिटेल बिजनेस खड़ा किया।1991 में ही इसके प्रमुख किशोर बियानी ने अपनी कंपनी का नाम पेंटालून फैशन लिमिटेड कर दिया। 2001 में कंपनी ने पूरे देश में बिग बाजार स्टोर खोले थे ।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button