कलेक्टर मलिक ने की कृषि, पशुधन, मत्स्य, रेशम, क्रेडा विभाग की गहन समीक्षा

गरियाबंद : कलेक्टर प्रभात मलिक ने आज कलेक्टर सभाकक्ष में कृषि, पशुधन, मत्स्य, रेशम, क्रेडा विभाग की संयुक्त रूप से विभागीय समीक्षा की। उन्होंने बैठक में गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गोबर क्रय, खाद उत्पादन एवं विक्रय की विकासखंडवार गहन समीक्षा की। जिले के सभी विकासखंडों में हो रहे गोबर खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन की विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली।

रबी फसल केसीसी प्रोग्रेस तथा बीज वितरण की जानकारी ली। गौठानों में गोबर खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण में लापरवाही पूर्वक काम के लिए ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी के प्रति नाराजगी व्यक्त की। कलेक्टर ने बैठक में निर्देश दिये कि सभी गौठानों में पर्याप्त वर्मी टैंक या वर्मी बेड उपलब्ध हो। बैठक में गोबर भुगतान विवरण एवं स्व-सहायता समूह और गौठान समिति लाभांश की जानकारी ली गई।

जिले में शत-प्रतिशत पीएम किसान ई-केवायसी के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये। तथा ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों से इसके प्रगति की जानकारियां ली। ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों को फील्ड में होने वाली समस्याओं की जानकारी लेते हुए इसके उचित समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने अप्रैल के पहले सप्ताह तक पीएम किसान ई-केवायसी पूर्ण करने के निर्देश दिये। जिले के उन्नत किसानां की सूची तथा जैविक खेती करने वाले किसानों की जानकारी लेते हुए लोगों को जैविक खेती की ओर प्रेरित करने कहा।

मत्स्य पालन विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुए मछुवारा प्रशिक्षण, गौठानों में मछली पालन जैसे विभिन्न जानकारियां ली। उन्होंने गौठानों में मछली पालन पर जोर देने कहा। इसी तरह रेशम विभाग के अधिकारियों से विभागीय कार्यो की समीक्षा की। पशुधन विभाग के अधिकारियों से जिले में चल रहे विभागीय कार्यो की विकासखंडवार समीक्षा की। उन्होंने जिले में पशु चिकित्सकों की कमी को देखते हुए नये सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी भर्ती 15 अप्रैल तक पूर्ण करने के निर्देश दिये।

उन्होंने अधिकारियों की शिकायत पर गौ सेवकों को टीकाकरण से मिलने वाले राशि का भुगतान दो महीने के भीतर आवश्यक रूप से करने हेतु निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि पशुपालकों को पशु चिकित्सा के संबंध में कोई परेशानी का सामना न करना पड़े इसलिए पशु चिकित्सालय/औषधालय प्रतिदिन खोले। उन्होंने विभाग के अधिकारियों से जिले में मिल्क प्लांट शुरू करने के लिए चर्चा की तथा अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश दिये।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button