लंबे समय तक बीमारियों से दूर रहने के लिए शाम 7 बजे के बाद इन 5 खाद्य पदार्थों का सेवन न करें

रायपुर : रात का खाना, जिसे डिनर भी कहा जाता है, सबसे महत्वपूर्ण भोजन में से एक है। एक हेल्दी रात का खाना कई स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा होता है। इनमें अच्छी नींद, फ्रेश माइंड, बेहतर पाचन, नियंत्रित ब्लड शुगर, और रिलैक्स मूड जैसे फायदे शामिल हैं। एक अच्छा डिनर आपको अगले दिन के लिए तैयार करता है। यह सलाह दी जाती है कि रात को बिना खाए कभी न सोएं। क्योंकि ऐसा करने से आपके दिन के आखिरी भोजन और अगले दिन के पहले भोजन के बीच एक बड़ा अंतर होता है जिसके परिणामस्वरूप तीव्र भूख, अम्लता, मतली, ब्लैकआउट और अनिद्रा का अनुभव हो सकता है।

सिर्फ हेल्दी डिनर करना ही काफी नहीं है, इसे सही समय पर खाना भी जरूरी है। जानकारों के मुताबिक देर रात खाना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। जब आप रात का खाना देर से यानि शाम 7 बजे के बाद खाते हैं तो इससे पाचन संबंधी समस्याएं, पेट में जलन, हाई ब्लड प्रेशर आदि हो सकता है। आयुर्वेद के अनुसार रात का खाना जल्दी खाने से आपको अच्छी नींद आ सकती है, जिससे सेहत में सुधार होता है। शाम 7 बजे के बाद अगर किसी को भूख लगती है तो वह खिचड़ी जैसी हल्की-फुल्की चीजों का सेवन कर सकता है या फिर एक गिलास दूध में दो खजूर या कुछ बादाम पी सकते हैं।

मटन बिरयानी- बिरयानी का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह मटन बिरयानी कैलोरी और वसा की मात्रा से भरपूर होती है। विशेषज्ञ यह भी बताते हैं कि मटन बिरयानी जैसे उच्च वसा और कैलोरी वाले व्यंजन का सेवन गैर-अल्कोहल फैटी लीवर रोग (NAFLD) को बढ़ावा दे सकता है। यह एक खतरनाक बीमारी है जो भारत में तेजी से फैल रही है। मटन बिरयानी की एक छोटी सी सर्विंग 500-700 कैलोरी के बराबर होती है। इतनी मात्रा में कैलोरी आपकी सेहत के लिए जोखिम भरी हो सकती है, वो भी तब जब आप इसे रात के खाने में खाते हैं।

मसालेदार खाना भारत मसालों का केंद्र है और इसलिए यहां बनने वाले ज्यादातर व्यंजन मसालों से भरपूर होते हैं। लाल मास से लेकर विंदालू, कोल्हापुरी चिकन से लेकर रिस्ता तक, भारत बहुत सारे मसालेदार व्यंजन पेश करता है, और विश्वास करें या नहीं, हम सभी अपने भोजन में कुछ उबले हुए चावल या रोटी जैसे नान और पराठे के साथ ऐसे व्यंजनों का आनंद लेते हैं। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि रात में इस तरह के मसालेदार व्यंजन खाने से सीने में तेज जलन हो सकती है। इतना ही नहीं, ऐसे व्यंजन बहुत सारे तेल और घी से बनाए जाते हैं, जो आगे चलकर हृदय संबंधी समस्याओं का कारण बन सकते हैं। इसलिए विशेषज्ञ रात में हल्का भोजन करने की सलाह देते हैं।

मिठाई रात के खाने के बाद मिठाई खाना भारतीय आहार का हिस्सा रहा है। लेकिन शाम 7 बजे के बाद मिठाई का सेवन करना फायदेमंद नहीं माना जाता है। क्योंकि यह आपके सोने के तरीके में बाधा डाल सकता है। क्योंकि मीठा खाने के बाद अक्सर आपका ज्यादा खाना खाने का मन करता है। अगर आप सोचते हैं कि खाने के बाद की मिठाई आपके खाने को पचाने का काम करती है तो आप गलत हैं। मिठाई रात में एक उत्तेजक के रूप में कार्य करती है जो आपको पूरी रात जगाए रख सकती है।

पकोड़ा बारिश के दिनों में पकोड़ो, मेहमानों के आने पर पकोड़ा बनना हर घर में जैसे आम सा रिवाज है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि शाम 7 बजे के बाद इस स्वादिष्ट व्यंजन का सेवन करने से परेशानी हो सकती है और आपकी नींद में खलल पड़ सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि गहरे तले हुए पकोड़े प्रकृति में अत्यधिक अम्लीय होते हैं। और जब आप इन्हें रात में खाते हैं तो आपका पेट इसे ठीक से पचा नहीं पाता है, जिससे आपकी नींद में दिक्कत हो सकती है।

कैफीनयुक्त पेय कैफीन एक बेहतरीन उत्तेजक है जो आपको रात की अच्छी नींद के बाद जगाने में मदद कर सकता है। लेकिन, जब आप रात में चाय, कॉफी या ग्रीन टी जैसे कैफीनयुक्त पेय पदार्थों का सेवन करते हैं, तो यह रात में नींद को प्रभावित करता है। जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। शाम 6 बजे के बाद ऐसे पेय से बचना चाहिए।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH
Back to top button