क्या आप जानते हैं कि दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी कौन है?

नई दिल्ली/सूत्र: क्या आप जानते हैं कि दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी कौन है? इसका जवाब है सऊदी अरब की कंपनी सऊदी अरामको। कंपनी ने पिछले साल यानी 2022 में 161.1 अरब डॉलर का रिकॉर्ड मुनाफा कमाया। यह किसी लिस्टेड कंपनी का अब तक का सबसे ज्यादा मुनाफा है। यह पिछले साल के मुकाबले 46 फीसदी ज्यादा है।

यूक्रेन युद्ध के कारण दुनिया भर में कच्चे तेल की कीमत 139 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई, जो 2008 के बाद का इसका उच्चतम स्तर था। इसका फायदा सभी तेल कंपनियों को मिला। सऊदी अरब ने भी इस मौके का फायदा उठाया और दोनों हाथों से कमाई की। मार्केट कैप के हिसाब से सऊदी अरामको ऐपल के बाद दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। इसका मार्केट कैप मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज से दस गुना ज्यादा है।

companiesmarketcap.com के मुताबिक, यूएस टेक दिग्गज ऐपल मार्केट कैप के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। इसकी मार्केट वैल्यू 2.353 लाख करोड़ डॉलर है। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर सऊदी अरामको है। इसका मार्केट कैप 1.933 ट्रिलियन डॉलर है। इस लिस्ट की टॉप 10 कंपनियों में से आठ अमेरिका की हैं। भारत की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज इस लिस्ट में 50वें नंबर पर है। इसका मार्केट कैप 186.83 अरब डॉलर है। लेकिन मुनाफे के मामले में सऊदी अरामको पहले नंबर पर है। कंपनी ने पिछले साल 161.1 अरब डॉलर का मुनाफा कमाया, जो दुनिया के दूसरे सबसे बड़े अरबपति एलोन मस्क की नेटवर्थ के बराबर है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक मस्क की कुल संपत्ति 165 अरब डॉलर है।

सऊदी अरामको दुनिया की सबसे बड़ी तेल उत्पादक कंपनी है। इसकी स्थापना 1933 में एक अमेरिकी कंपनी के रूप में हुई थी और 1938 में तेल निकालना शुरू किया। सऊदी सरकार ने 1973 में इसमें 25 प्रतिशत और फिर 1970 के दशक के अंत में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी। इसका मुख्यालय भी अमेरिका से सऊदी में स्थानांतरित कर दिया गया था। आज इस कंपनी के पास 261.1 बिलियन बैरल तेल भंडार है, जो अमेरिकी कंपनी एक्सॉनमोबिल से दस गुना ज्यादा है। यह कंपनी रोजाना 95.4 लाख बैरल तेल निकालती है। दुनिया में हर आठ बैरल तेल में से एक इसी कंपनी का होता है। 2019 में यह कंपनी आईपीओ लेकर आई थी।

इसकी शुरुआत अमेरिका से हुई थी लेकिन आज इसका सबसे बड़ा क्लाइंट अमेरिका नहीं बल्कि चीन है। सऊदी अरामको में 60 हजार से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं। इनमें से 51,653 सऊदी अरब के हैं। साथ ही इसमें 77 देशों के 10,254 कर्मचारी भी काम करते हैं। कंपनी का कारोबार चीन, मिस्र, जापान, भारत, नीदरलैंड, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर, यूएई, यूके और यूएसए में फैला हुआ है। तीन ट्रिलियन डॉलर के मार्केट कैप को छूने वाली यह दुनिया की पहली कंपनी थी। लेकिन बाद में ऐपल ने इसे पछाड़ दिया।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button