कांकेर के इच्छापुर में बनेगा हर्रा प्रोसेसिंग केंद्र

मर्दापोटी अंचल के 13 वन बाहुल्य ग्राम हैं, जहां के जंगलों में हर्रा, बहेड़ा, आंवला, चार, महुआ, धंवई फुल, कुसुम, भेलवा इत्यादि लघु वनोपज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं

रायपुर: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर के निर्देश और जिले के प्रभारी मंत्री गुरु रूद्रकुमार के मार्गदर्शन में कांकेर जिले के ईच्छापुर ग्राम में हरा प्रोसेसिंग केंद्र की स्थापना की जा रही है। राज्य शासन के मंशा अनुरूप वनांचल में वनों पर आधारित प्रसंस्करण और प्रोसेसिंग केंद्र बनाकर वनांचल के लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाने के साथ-साथ उन्हें आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने की दिशा में कार्य किए जा रहे हैं। इस कड़ी में कांकेर जिले के मर्दापोटी कलस्टर अंतर्गत ग्राम ईच्छापुर में हर्रा प्रसंस्करण केंद्र स्थापित किया जा रहा है, जिसके लिए कलेक्टर श्री के.एल. चौहान और डीएफओ श्री अरविंद पी.एम. ने आज ग्राम ईच्छापुर पहुंचकर स्थल का निरीक्षण किया एवं प्रसंस्करण स्थापना हेतु आवश्यक अधोसंरचना निर्माण के लिए वन विभाग और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि मर्दापोटी अंचल के 13 वन बाहुल्य ग्राम हैं, जहां के जंगलों में हर्रा, बहेड़ा, आंवला, चार, महुआ, धंवई फुल, कुसुम, भेलवा इत्यादि लघु वनोपज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जिसके संग्रहण एवं प्रसंस्करण से क्षेत्र के लोग आर्थिक रूप से लाभान्वित हो सकते हैं और उनके जीवन स्तर में निश्चित रूप से आर्थिक बदलाव भी आएगा। जिला प्रशासन द्वारा इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ग्राम ईच्छापुर में हर्रा प्रसंस्करण केंद्र स्थापित करने की योजना बनाई जा रही है।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button