Ads

नरवा विकास योजना से हो रहा है सिंचाई क्षेत्र में चहुंमुखी विकास

किसान कर रहें है दोहरी फसल लेने की तैयारी, ग्रामीणों को होगा अतिरिक्त आमदनी

सुखसागर/बलौदाबाजार : राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ग्राम सुराजी योजना के अंतर्गत नरवा विकास परियोजना का कार्य जिले में तेजी से अग्रसर हो रहा है। प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने जिस सोच से चहुंमुखी विकास के लिए यह योजना बनाई गई थी उसके अब परिणाम जमीनी स्तर पर दिखने लगे है। नरवा विकास योजना के माध्यम से जिले में वर्षा जल का संचयन,भंडारण,सिंचाई एवं ग्रामीण लोगों को रोजगार उपलब्ध करा कर उनके आजीविका के साधनों में तेजी से विकास हो रहा है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को अधिक से अधिक सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने  के साथ जल संरक्षण एवं संवर्धन किया जाना है।साथ ही साथ ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए आजीविका का साधन उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत ऐसी सरंचनाओं का निर्माण किया जा रहा है जो भू-जल स्तर या भू-स्तर पर पाये जाने  वाले जल एवं बरसात के पानी को भंडारित कर आगें उपयोग करनें में एवं जल के कुछ मात्रा को नाला को पुनर्जीवित करनें में किया जा रहा है। जिले में  नरवा विकास योजना के माध्यम से नाला उपचार  एवं क्षेत्र उपचार का कार्य किया जा रहा है। इस हेतु जिले के सभी विकासखण्डों में 63 नालों का चिन्हांकन किया गया है। जिसके अंतर्गत विकासखण्ड बलौदाबाजार के 8 भाटापारा 9 बिलाईगढ़ 13 कसडोल 11 सिमगा 10 एवं पलारी के 12 नालों का चिन्हाकन कर योजना में शामिल किया गया है। इन सभी नालों की कुल लंबाई करीब 447 किलोमीटर है। जिसके द्वारा कुल 99 हजार 655 हेक्टेयर क्षेत्रफल की जलग्रहण क्षमता विकसित की गई है। इस कार्य योजना तैयार करनें के लिए नालों का भौतिक सर्वे एवं कार्य के बेहतर क्रियान्वयन के लिए भुवन पोर्टल की विभिन्न परतों का उपयोग की गई है। सर्वे में इन नालों पर मनरेगा एवं अन्य क्रियान्वयन एजेंसी के माध्यम से छोटे बड़े कुल 8156 निर्माण कार्यों को शामिल किया गया है। इस हेतु कुल 11 करोड़  लाख हजार की राशि स्वीकृत की गई है। नरवा विकास कार्य मे नालों की साफ सफाई एवं भूमि सुधार कर नाले के क्षेत्रफल को बढ़ाया जा रहा हैं। जिसके अंतर्गत नाला उपचार के लिए स्टॉप डैम, बोल्डर चैक डैम, गाद निकास नाली,गेबियन सरंचना, गली प्लग, कंटूर ट्रैच सहित सीसीटी,एलबीसी इत्यादि के कार्य किये जा रहें हैं।

किसान कर रहें है दोहरी फसल लेने की तैयारी,ग्रामीणों को होगा अतिरिक्त आमदनी

बलौदाबाजार विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम कसियारा के निवासी 52 वर्षीय किसान राजाराम पटेल ने बताया की नरवा के पानी से बाड़ी का जल स्तर बढ़ गया है, जिससे सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी मिल रहा है। मेरे पास लगभग 7 एकड़ का खेत है, जिसमें मैं अब रबी फसल लेने की तैयारी कर रहा हूं। साथ ही नरवा के पानी से मेरे बाड़ी में लगे हुए सब्जी-भाजी को इस मौसम में भी पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध हो रहा है। निश्चित ही इससे अतिरिक्त आमदनी का अर्जन होगा।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button