आज से शुरू होगी धान खरीदी, धान उपार्जन केन्द्रों में सभी तैयारियां पूर्ण

गरियाबंद : जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में आज 1 नवंबर से धान खरीदी शुरू हो जाएगी। जिले के 67 समितियां के अंतर्गत 90 उपार्जन केंद्रों में साफ सफाई के अलावा धान खरीदी के लिए बारदाने और अन्य जरूरी चीजों की व्यवस्था कर ली गई है। धान खरीदी करने हेतु विभाग ने अपनी तैयारी पूर्ण कर ली है। जिला विपणन संघ गरियाबंद, जिला सहकारी बैंक गरियाबंद, सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाएं गरियाबंद एवं खाद्य विभाग गरियाबंद ने अपनी-अपनी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है।

धान खरीदी की शुरुआत के पहले दिन के लिए 787 टोकन जारी किए गए हैं। इसके माध्यम से जिले के किसानों से 24612 क्विंटल धान की खरीदी की जाएगी। किसानों को धान उपार्जन केंद्रों के अलावा मोबाइल के माध्यम से भी टोकन तुंहर हाथ मोबाइल ऐप से टोकन प्राप्त करने की सुविधा दी गई है। धान कॉमन मोटा का 2183 रुपए एवं धान ग्रेड ए पतला का 2203 रुपए समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है। खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 के धान उपार्जन के इस महाअभियान में संलग्न रहने वाले सर्व संबंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान कर दिया गया है।

जिला विपणन अधिकारी अमित चंद्राकर ने बताया कि जिले के 67 समितियों को गत वर्ष की कमीशन राशि 9 करोड़ 98 लाख रूपये अंतरित कर दिए गए है। साथ ही खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 हेतु सभी 67 समितियों के 90 उपार्जन केन्द्रों को 1 करोड़ 14 लाख रूपये भण्डारण एवं सुरक्षा व्यय पृथक से प्रदान कर दिया गया है। खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 के लिए जिले में 04 नए उपार्जन केन्द्र पोलकर्रा, पीपरछेड़ी, कदलीमुड़ा एवं गुरजीभाठा (अ) खोले गए है, जिसके प्रारंभिक तैयारियों के लिए 01-01 लाख रूपये प्रत्येक केन्द्र के लिए पृथक से राशि जारी किया गया है। जिले के सभी 90 उपार्जन केन्द्रों में नए-पुराने बारदाने पहुंचा दिए गए है।

जिला खाद्य अधिकारी सुधीरचन्द्र गुरू ने बताया कि जिले के सभी 90 धान उपार्जन केन्द्रों में विंडो 10 ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ कम्प्यूटर अपग्रेड कर दिया गया है। साथ ही  90 उपार्जन केन्द्रों में सफलता पूर्वक ट्रायल रन में भाग लेकर आगामी खरीदी की तैयारी को पुख्ता किया जा चुका है। सतत् निगरानी के लिए जिले सभी 90 उपार्जन केन्द्रों के लिए खाद्य विभाग ने नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया है। सीमावर्ती क्षेत्रों की मॉनिटरिंग के लिए छुरा में 04, मैनपुर में 11 एवं देवभोग में 15 इस प्रकार जिले में कुल 30 अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट बनाये गये है, जिसमें अधिकारीएवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी है, जिससे कि अवैध धान के अन्य राज्य से आवक को रोका जा सके।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button