जिला आयुर्वेद अधिकारी द्वारा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने जारी किए गए ये उपाय

दुर्ग : जिला आयुर्वेद अधिकारी द्वारा कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचाव एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु आयुर्वेदिक उपाय जारी किए गए हैं। जिनके द्वारा आम जनों को राहत मिल सकती है। आयुर्वेद अधिकारी द्वारा खासतौर पर सलाह दी गई है कि अच्छी इम्युनिटी के लिए पूरे दिन गर्म पानी पीना, प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन प्रणायाम एवं ध्यान करना कारगर है। साथ ही यह भी सलाह दी गई है कि भोजन में हल्दी, जीरा, धनिया एवं लहसुन आदि मसालों का प्रयोग भी लाभदायक है। इसके अलावा उन्होंने 3 प्रकार के काढ़े का सेवन भी लाभप्रद बताया। उन्होंने कहा है कि काढ़े का संतुलित मात्रा में ही सेवन करें आवश्यकता से अधिक नहीं।

काढ़ा प्रकार -1
तुलसी 40 ग्राम,काली मिर्च 20 ग्राम,सोंठ 20 ग्राम, दालचीनी 20 ग्राम इन्हें सूखाकर पावडर बनाकर हवा बंद डिब्बे में रख लें और 03 ग्राम पावडर को 150 मि.ली. पानी में उबालकर दिन में एक से दो बार सेवन करें।

काढ़ा प्रकार -2
त्रिकटु पावडर 05 ग्राम, तुलसी 03 से 05 पत्तियां 01 लीटर पानी में डालकर उबालें, आधा शेष रहने पर पियें।

काढ़ा प्रकार -3 घटक द्रव्य-शुंठी,  मरीच, पिप्ली, गुडुची, काढ़ा बनाने की विधि- एक चम्मच क्वाथ मिश्रण को एक कप पानी (100 मिली लीटर) में धीमी आंच पर उबालें, पानी आधा बचने पर छानकर पीएं, स्वाद हेतु 1/2 चम्मच गुड़ का प्रयोग भी कर सकते हैं और प्रतिदिन 02 से 03 बार सेवन करें।
इसके अतिरिक्त  गोल्डन मिल्क – 150 मिली लीटर गर्म दूध में 1/2 चम्मच हल्दी चूर्ण मिलाकर दिन में 01 से 02 बार सेवन करें । इसके अलावा होम्योपैथी औषधि आर्सेनिक एल्बम-30 का उपयोग कोविड-19 में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु सुबह-शाम 05-05 ग्लोबुल्स खाली पेट सेवन करना भी लाभकारी है परंतु इस बात का विशेष ध्यान रखें कि किसी भी चीज का सेवन बताई गई मात्रा से अधिक न करें।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button