27 प्रतिशत वेतन वृद्धि नहीं मिलने सहित नियमितीकरण की मांग को लेकर, संविदा कर्मी दो दिवसीय हड़ताल पर

गरियाबंद: छत्तीसगढ़ के सभी विभागों के संविदा कर्मचारी 27 प्रतिशत वेतन वृद्धि का लाभ नहीं मिलने सहित नियमितीकरण की मांग को लेकर नया रायपुर में हड़ताल और प्रदर्शन करेंगे।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के सभी विभागों के संविदा कर्मचारियों को नियमित करने और 27% वेतन वृद्धि की घोषणा 18 से 21 जुलाई तक आयोजित विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की थी, जिसमें कई विभागों के कर्मचारियों को इसका लाभ मिला लेकिन संविदा कर्मियों को अब तक नियमित नहीं किये जाने के कारण 27 प्रतिशत वेतन वृद्धि नहीं मिल पायी है।

जिससे संविदा कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणा और बजट में 350 करोड़ रूपये का प्रावधान करने के बाद भी नियमित नहीं किये जाने से संविदा कर्मचारियों में काफी आक्रोश है और वे सरकार को याद दिलाने के लिए दो दिवसीय धरना देने जा रहे हैं।

ज्ञात हो कि वर्ष 2018 के कांग्रेस घोषणा पत्र के अनुसार सभी संविदा कर्मचारियों को नियमित करने की घोषणा का वादा किया गया था जो आज तक अधूरा है और यह बात कई बार विधानसभा के अंदर और बाहर मुख्यमंत्री द्वारा भी कही गई थी लेकिन संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण का वादा अभी भी अधूरा है।

छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार के प्रति हजारों संविदा कर्मचारियों में भारी आक्रोश है, साथ ही पिछले विधानसभा के अनुपूरक बजट में संविदा कर्मचारियों की 27 फीसदी वेतन वृद्धि का लाभ स्वास्थ्य विभाग समेत विभिन्न विभागों के संविदा कर्मचारियों को आज तक नहीं मिला है।

अपनी मांगों को याद दिलाने के लिए छत्तीसगढ़ के 45 हजार संविदा कर्मचारी फिर से हड़ताल पर जाने को मजबूर हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ के जिला संयोजक गिरिराज वर्मा और भूपेश साहू ने बताया कि गरियाबंद के सभी विभागों के संविदा कर्मचारी तुता रायपुर में दो दिवसीय हड़ताल में शामिल होंगे।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button