सॉफ्ट ड्रिंक से लेकर साबुन तक सब कुछ सस्ता, रिलायंस यहां भी खेल रहा जियो जैसा खेल

नई दिल्ली/सूत्र : लोकप्रिय सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड कैंपा को फिर से लॉन्च करने वाली रिलायंस ने दूसरी कंपनियों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं. रिलायंस ने व्यक्तिगत और घरेलू उपभोक्ता सेगमेंट में कदम रखते हुए और 30-35% कम कीमतों पर उत्पाद लॉन्च करके प्रमुख एफएमसीजी कंपनियों के लिए एक चुनौती पेश की है। इस क्षेत्र के विशेषज्ञों का मानना है कि रिलायंस ने स्थापित कंपनियों के उत्पादों की तुलना में कम कीमत पर उत्पाद लॉन्च किए हैं। यह ग्राहकों को उन्हें आजमाने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली एफएमसीजी सहायक कंपनी आरसीपीएल के उत्पाद वर्तमान में केवल चुनिंदा बाजारों में उपलब्ध हैं। लेकिन कंपनी अखिल भारतीय स्तर पर उनके लिए डीलरशिप नेटवर्क स्थापित करने में लगी हुई है। ऐसा होते ही उनके उत्पाद आधुनिक और सामान्य व्यावसायिक चैनलों के माध्यम से उपलब्ध होंगे। इंडस्ट्री के जानकारों ने सूत्रों से कहा, ‘वे इसके लिए एक अलग डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क तैयार कर रहे हैं। इसमें पारंपरिक डीलर और स्टॉकिस्ट के साथ-साथ आधुनिक बी2बी चैनल भी शामिल होंगे।

रिलायंस की 110 अरब डॉलर के एफएमसीजी सेगमेंट में दबदबा बनाने की योजना है। अब तक इस सेगमेंट में हिंदुस्तान यूनिलीवर, पीएंडजी, रेकिट और नेस्ले जैसी कंपनियों का दबदबा है। रिलायंस ने हाल ही में बाजार में नहाने के साबुन, डिटर्जेंट पाउडर और बर्तन धोने के साबुन समेत कई उत्पाद उतारे हैं। इनकी कीमत स्थापित कंपनियों के उत्पादों से 30-35 फीसदी कम है। इससे पहले रिलायंस कैंपा को नए सिरे से बाजार में पेश कर पेप्सी और कोक जैसे ब्रांड्स को भी टक्कर देने की कोशिश कर चुकी है।

टेक्नोपार्क एडवाइजर्स के चेयरमैन अरविंद सिंघल ने सूत्रों से कहा कि रिलायंस ने पहले कम कीमत पर सेवाएं देकर दूरसंचार क्षेत्र में बड़ा उलटफेर किया था. अब वह यही काम एफएमसीजी सेक्टर में करना चाहती हैं। लेकिन अगर उसके उत्पादों की गुणवत्ता में जरा सी भी गिरावट आ जाए तो वह सफल नहीं हो पाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रिलायंस ने एफएमसीजी सेगमेंट में प्रवेश करने से पहले बहुत अच्छी तरह से जमीनी काम किया है और व्यक्तिगत उपभोग पर अधिक जोर दे रही है। ऑल इंडिया कंज्यूमर प्रोडक्ट्स डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन के अध्यक्ष धैर्यशील पाटिल ने कहा कि आरसीपीएल के उत्पाद अभी बाजार में नहीं पहुंचे हैं। अगर इन्हें मीडिया में प्रचार और विज्ञापन अभियान के साथ नहीं निकाला जाएगा तो लोग इन पर ध्यान भी नहीं देंगे।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button