डुप्लीकेट पैन कार्ड पाने के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

रायपुर: स्थायी खाता संख्या (पैन) कार्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। अगर यह खो जाए या चोरी हो जाए तो आपको डुप्लीकेट कार्ड बनवाना होगा। इस लेख में हम जानेंगे कि डुप्लीकेट पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें और इसे बनाने की पूरी प्रक्रिया क्या है।

कितना जरूरी है पैन कार्ड?

पैन (स्थायी खाता संख्या) कार्ड मौद्रिक लेनदेन, बिक्री और खरीद, वीजा के लिए आवेदन करते समय और सबसे महत्वपूर्ण रूप से आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करते समय आवश्यक महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक है। यह भारत के आयकर विभाग द्वारा नागरिकों को जारी किया जाने वाला दस अंकों का अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर है।

यदि आपने अपना पैन कार्ड खो दिया है, तो आप डुप्लिकेट पैन के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं, या आईटी विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल से इलेक्ट्रॉनिक पैन कार्ड या ई-पैन कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

डुप्लीकेट पैन कार्ड कैसे बनायें?

पैन कार्ड के खो जाने या चोरी हो जाने पर सबसे पहले आपको तुरंत अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करानी होगी और एफआईआर की एक कॉपी अपने पास रखनी होगी। ऐसे में आपके पैन के साथ धोखाधड़ी की संभावना कम हो जाती है। आइए जानते हैं इसे बनाने की बाकी प्रक्रिया के बारे में-

आधिकारिक वेबसाइट TIN-NSDL पर जाएं।

आवेदन प्रकार को Changes or correction in existing PAN data/ Reprint of PAN card (No changes in existing PAN data) के रूप में चुनें।

नाम, जन्म तिथि, मोबाइल नंबर जैसी अनिवार्य जानकारी भरें और फिर सबमिट करें।

इसके बाद एक टोकन नंबर जेनरेट किया जाएगा और भविष्य के संदर्भ के लिए आवेदक के पंजीकृत ईमेल पर भेजा जाएगा।

Personal Details पेज पर जाकर सारा विवरण भरें। आप उपलब्ध विकल्पों में से पैन आवेदन जमा करने के तरीकों में से किसी एक को चुन सकते हैं।

आपको फिजिकल पैन कार्ड और ई-पैन कार्ड के बीच चयन करना होगा। ई-पैन कार्ड के लिए एक वैध Email Address की आवश्यकता होगी।

कॉन्टैक्ट इंफोर्मेशन व डॉक्यूमेंट डिटेल्स फिल करके आवेदन जमा करें।

इस प्रक्रिया के बाद आपको पेमेंट पेज पर रिडाइरेक्ट कर दिया जाएगा। पैसों का भुगतान करने के बाद रसीद मिल जाएगी।

आपका नया पैन कार्ड 15-20 वर्किंग डे के अंदर जारी कर दिया जाएगा।

Show More

KR. MAHI

CHIEF EDITOR KAROBAR SANDESH

Related Articles

Back to top button